International Journal of Hindi Research

International Journal of Hindi Research


International Journal of Hindi Research
International Journal of Hindi Research
Vol. 4, Issue 4 (2018)
S.No. Title and Authors Name
1
डॉ0 नरेंद्र कोहली का आध्यात्मिक चिंतन (महासमर के ‘गीतासार’ के सन्दर्भ में)
पूजा भट्ट, डाॅ0 सरला पण्ड्या
2
कृषि : जल प्रदूषण का एक अनियत स्रोत
प्रगति प्रामाणिक, बिदिशा चक्रबर्ती, ईश्वर चन्द, रश्मि मित्तल
3
लोकभाषा अंगिका के प्रमुख शब्दों की उत्पत्ति एवं या़त्रा
पुलकित कुमार मंडल
4
अल्पमत सरकार की स्थिति में वैकल्पिक उपाय
ममता डांगी
5
रूद्र शिव की वैदिक अवधारणा-पाशुपत सम्प्रदाय के प्रवर्तक एवं आचार्य
डाॅ0 सत्येन्द्र कुमार मिश्र
6
सूचना प्रौद्योगिकी के संदर्भ में सामकालीन कविता का उत्तर पाठ
महेष एस0
7
मैत्रेयी पुष्पा के उपन्यासों में निम्नवर्गीय पात्रः
कविता गुप्ता
8
प्रणामी परमधाम : स्वरुप और सामयिकी
प्रो0 राज कुमार लहरे
9
अध्यात्म एवं जीव-जगत
श्रीमती निधी सिंह
10
समाजवादी एंव यथार्थपरक सामाजिक उपन्यासों में अभिव्यक्त जीवनदर्शन
डाॅ0 दिलीप कुमार झा
11
हिंदी उपन्यास आलोचना का वर्तमान : एक परिचय
यदुवंश यादव
12
साठोत्तरी कहानी में राष्ट्रीय संवेदना
डॉ0 संतोष रामचंद्र आडे
13
विकास प्रशासन में जनसंचार की भूमिका
डाॅ0 कविता राज
14
आज के कथा लेखन और महिलाएं
मोनिता नेमा
15
मैत्रेयी पुष्पा के रचना संसार (उपन्यासों) में स्त्री विमर्श
मोनिता नेमा
16
हानिकारक घरेलू सूक्ष्म धूल जीव
डाॅ0 कीर्ति खत्री
17
अहिंसक जीवन शैली की व्यावहारिकता : मानव समाज की समरसता का आधार - जीवन मूल्य के सन्दर्भ में एक सूक्ष्म विश्लेषण
मेधावी शुक्ला
18
‘अंतिम सत्याग्रही’ में सामाजिक चेतना की अभिव्यक्ति
गीतु. वी. कृष्णन
19
हिंदी भाषा का वैश्विक धरातल
Dr. Ranjith M
20
मलयालम कवि कुमारनाशान के काव्य में युग बोध
डाँ0 जार्ज जोसफ
21
आदिवासी लोक साहित्य का सांस्कृतिक परिवर्तन और जागरूकता का अध्ययन
डाॅ0 सुनीता सिंह मरकाम
22
मनस्तत्त्व अध्ययन योगवासिष्ठ के सन्दर्भ में
अनिल कुमार
23
प्रेमचन्द एवं नागार्जुन के उपन्यासों में स्त्रियों की दशा एवं दिशा
दुलारी कुमारी
24
तुलसीदास का भाषा-वैदुष्य एवं भाषावैज्ञानिक तथ्य
सत्यभामा राज़दान
25
प्रभा खेतान की रचनाओं में चित्रित समाज एवं संस्कृति
रम्या वी.
26
जल प्रबन्धन में जल संवर्धन कार्यक्रम का प्रभाव एवं विकास (मेंहदवानी विकासखण्ड, डिण्डौरी जिले के सन्दर्भं में)
प्रसन्न वदन मरकाम, डाॅ. भूवनेश्वर टेम्भरे