International Journal of Hindi Research


ISSN: 2455-2232

Vol. 6, Issue 1 (2020)

असमिया लेखिका इन्दिरा गोस्वामी का साहित्यिक व्यक्तित्व का विश्लेषणात्मक अध्ययन

Author(s): मिनहाज अली
Abstract: आधुनिक असमिया साहित्य में इंदिरा गोस्वामी का नाम बहुत आदर के साथ लिया जाता है। परन्तु साहित्य जगत में उन्हें मामोनी रायसम गोस्वामी नाम से जाना जाता है। क्योंकि उन्होंने अपना लेखन कार्य इसी नाम से किया था। उनके साहित्यिक व्यक्तित्व की शुरुआत स्कूली जीवन से ही हुई और जीवन के अंतिम क्षणों तक उन्होंने अपना लेखन कार्य जारी रखा। गोस्वामी का जीवन बहुत संघर्षमय रहा। फिर भी उन्होंने अपने जीवन से हार नहीं मानी, बल्कि संघर्ष, साहस और आत्मबल के सहारे साहित्य को जीवन जीने का एकमात्र लक्ष्य बनाया। उन्होंने समाज में जो देखा, भोगा वही अपने लेखन के द्वारा पाठकों के सामने प्रस्तुत किया। उन्होंने अपने कष्टपूर्ण जीवन को झेलते हुए भी असमिया साहित्य जगत को बहुमूल्य रचनाएँ दी। इस प्रकार उनकी नि:स्वार्थ साहित्य सेवा के लिए उन्हें सन् 2000 ई. में भारतीय साहित्य का सर्वश्रेष्ठ साहित्यिक सम्मान ‘ज्ञानपीठ पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया था। वे भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित असम की द्वितीय साहित्यकार और एकमात्र असमिया लेखिका हैं।
Pages: 17-22  |  816 Views  562 Downloads
download hardcopy binder