International Journal of Hindi Research

International Journal of Hindi Research


International Journal of Hindi Research
International Journal of Hindi Research
Vol. 3, Issue 2 (2017)
S.No. Title and Authors Name
1
धरती का कवि त्रिलोचन
मंजू देवी
How to cite this article:
मंजू देवी. धरती का कवि त्रिलोचन. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 01-05.
2
गीताः विषाद से क्रान्ति और क्रान्ति से सृजन
प्रो0 संगीता जैन, प्रो0 लक्ष्मी शर्मा
How to cite this article:
प्रो0 संगीता जैन, प्रो0 लक्ष्मी शर्मा. गीताः विषाद से क्रान्ति और क्रान्ति से सृजन. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 06-08.
3
मृदुला गर्ग के उपन्यास कठगुलाब में नारी संवेदना
डॉ0 सुमन सामोता
How to cite this article:
डॉ0 सुमन सामोता. मृदुला गर्ग के उपन्यास कठगुलाब में नारी संवेदना. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 09-12.
4
भक्तिकाल में स्त्री
विजय
How to cite this article:
विजय. भक्तिकाल में स्त्री. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 13-14.
5
निर्गुण भक्ति परम्परा और बेनामी जी
सतीश कुमार, राम जी शर्मा
How to cite this article:
सतीश कुमार, राम जी शर्मा. निर्गुण भक्ति परम्परा और बेनामी जी. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 15-19.
6
स्त्री मुक्ति और अस्मिता की पहचान
Dr. Prachi Singh
How to cite this article:
Dr. Prachi Singh. स्त्री मुक्ति और अस्मिता की पहचान. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 20-22.
7
जयपुर रियासत में जागीरदारी व्यवस्था
डाॅ0 चित्रा तंवर
How to cite this article:
डाॅ0 चित्रा तंवर. जयपुर रियासत में जागीरदारी व्यवस्था. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 23-24.
8
रमेश चन्द्र शाह के उपन्यासों का वर्गीकरण
किरन
How to cite this article:
किरन. रमेश चन्द्र शाह के उपन्यासों का वर्गीकरण. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 25-29.
9
पं. लखमीचंद के सांगों में लोक-जीवन
डाॅ. पूनम काजल
How to cite this article:
डाॅ. पूनम काजल. पं. लखमीचंद के सांगों में लोक-जीवन. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 30-33.
10
बुध्दम् शरणम् गच्छामि__धम्मम् शरणम् गच्छामि__संघम् शरणम् गच्छामि !!
प्रो. राजकुमार लहरे
How to cite this article:
प्रो. राजकुमार लहरे. बुध्दम् शरणम् गच्छामि__धम्मम् शरणम् गच्छामि__संघम् शरणम् गच्छामि !!. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 34-36.
11
अनूप अषेष के नवगीतों में नवीन बिम्ब ग्राह्यता एवं प्रतीक योजनाएं
डाॅ0 बीरेन्द्र कुमार त्रिपाठी
How to cite this article:
डाॅ0 बीरेन्द्र कुमार त्रिपाठी. अनूप अषेष के नवगीतों में नवीन बिम्ब ग्राह्यता एवं प्रतीक योजनाएं. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 37-39.
12
आधुनिक काव्य में महिलाओं पर चिंतन
आशा रानी
How to cite this article:
आशा रानी. आधुनिक काव्य में महिलाओं पर चिंतन. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 40-41.
13
अरुणाचल प्रदेश की आदी जनजाति पर एक विमर्श
विजय कुमार यादव
How to cite this article:
विजय कुमार यादव. अरुणाचल प्रदेश की आदी जनजाति पर एक विमर्श. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 42-43.
14
हिंद स्वराज: कुछ तथ्य
डॉ0 बृजेन्द्र कुमार अग्निहोत्री
How to cite this article:
डॉ0 बृजेन्द्र कुमार अग्निहोत्री. हिंद स्वराज: कुछ तथ्य. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 44-45.
15
सन्त बेनामी जी की साधना-पद्धति
सतीश कुमार, बसन्ती
How to cite this article:
सतीश कुमार, बसन्ती. सन्त बेनामी जी की साधना-पद्धति. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 46-50.
16
बोधिसत्व बाबा साहेब डाँ. भीमराव अम्बेडकर: एक प्रकाश-स्तंभ
प्रो0 राजकुमार लहरे
How to cite this article:
प्रो0 राजकुमार लहरे. बोधिसत्व बाबा साहेब डाँ. भीमराव अम्बेडकर: एक प्रकाश-स्तंभ. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 51-53.
17
प्रभा खेतान कृत ‘आओ पेपे घर चलें’ लंबी कहानी में चित्रित स्त्री पात्रों का अवलोकन
रम्या. वी.
How to cite this article:
रम्या. वी.. प्रभा खेतान कृत ‘आओ पेपे घर चलें’ लंबी कहानी में चित्रित स्त्री पात्रों का अवलोकन. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 54-56.
18
हिंदी मुहावरेदार अभिव्यक्तियों का भाषिक अध्ययन
प्रितेंद्र कुमार मालाकार
How to cite this article:
प्रितेंद्र कुमार मालाकार. हिंदी मुहावरेदार अभिव्यक्तियों का भाषिक अध्ययन. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 57-60.
19
बिहारी की अभिव्यन्जना पद्धति-रीति-श्रृंगार के संदर्भ में
लक्ष्मी सुजाता
How to cite this article:
लक्ष्मी सुजाता. बिहारी की अभिव्यन्जना पद्धति-रीति-श्रृंगार के संदर्भ में. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 61-63.
20
हिन्दी की महत्वपूर्ण विधाः यात्रा साहित्य
करुणा सक्सेना
How to cite this article:
करुणा सक्सेना. हिन्दी की महत्वपूर्ण विधाः यात्रा साहित्य. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 64-67.
21
प्रेमचंद और श्री लंका के लेखक मार्टिन विक्रमसिंह की कहानियों में चित्रित नारियों की समस्याएँ
डाॅ. आर. के. डी. निलंति कुमारी
How to cite this article:
डाॅ. आर. के. डी. निलंति कुमारी. प्रेमचंद और श्री लंका के लेखक मार्टिन विक्रमसिंह की कहानियों में चित्रित नारियों की समस्याएँ. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 68-72.
22
समकालीन कहानी: बदलते सामाजिक संबंध ओर जीवन मूल्य में द्वंद्व
Dilraj Meena, Dr. K.L Raigar
How to cite this article:
Dilraj Meena, Dr. K.L Raigar. समकालीन कहानी: बदलते सामाजिक संबंध ओर जीवन मूल्य में द्वंद्व. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 73-75.
23
राजस्थान के विकास में पंचायत राज संस्थाओं की भूमिका
Dr. Bhupendar Kumar Dular, Mahesh Kumar Yadav
How to cite this article:
Dr. Bhupendar Kumar Dular, Mahesh Kumar Yadav. राजस्थान के विकास में पंचायत राज संस्थाओं की भूमिका. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 76-79.
24
आधुनिक समय में वेदों का महत्त्व
डाॅ. दोलामणिः आर्यः
How to cite this article:
डाॅ. दोलामणिः आर्यः. आधुनिक समय में वेदों का महत्त्व. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 80-82.
25
बंदा सिंह बहादुरः योगदान व बलिदान
Ravita Rani
How to cite this article:
Ravita Rani. बंदा सिंह बहादुरः योगदान व बलिदान. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 83-85.
26
मृणाल पाण्डे का पत्रकारिता के क्षेत्र में योगदान
डाॅ. महेन्द्र सिंह
How to cite this article:
डाॅ. महेन्द्र सिंह. मृणाल पाण्डे का पत्रकारिता के क्षेत्र में योगदान. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 86-89.
27
प्रेमचन्द के कहानियों में दलित विमर्श
सुमन
How to cite this article:
सुमन. प्रेमचन्द के कहानियों में दलित विमर्श. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 90-92.
28
बच्चन के काव्य में प्रेम के विविध रूप
रीना अग्रवाल
How to cite this article:
रीना अग्रवाल. बच्चन के काव्य में प्रेम के विविध रूप. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 93-94.
29
भारत भूषण अग्रवाल के काव्य में नारी विमर्श
डाॅ0 ओम प्रकाश
How to cite this article:
डाॅ0 ओम प्रकाश. भारत भूषण अग्रवाल के काव्य में नारी विमर्श. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 95-97.
30
मुगल शैली का सौन्दर्य सापेक्ष की समीक्षा
डाॅ0 वीना रानी
How to cite this article:
डाॅ0 वीना रानी. मुगल शैली का सौन्दर्य सापेक्ष की समीक्षा. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 98-101.
31
गोस्वामी तुलसीदास की प्रासांगिकता
Nitu Gupta
How to cite this article:
Nitu Gupta. गोस्वामी तुलसीदास की प्रासांगिकता. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 102-104.
32
वेदों में नारी की सार्वभौमिकता
सोनू
How to cite this article:
सोनू. वेदों में नारी की सार्वभौमिकता. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 105-106.
33
चित्रा मुद्गल के साहित्य में चित्रित आर्थिक संदर्भ में सामाजिक यथार्थ
पिंकी शर्मा
How to cite this article:
पिंकी शर्मा. चित्रा मुद्गल के साहित्य में चित्रित आर्थिक संदर्भ में सामाजिक यथार्थ. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 107-108.
34
नई सदी में आदिवासी साहित्य एवं अस्मिता का यर्थाथ
डाॅ0 प्रीति सिंह
How to cite this article:
डाॅ0 प्रीति सिंह. नई सदी में आदिवासी साहित्य एवं अस्मिता का यर्थाथ. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 109-111.
35
समकालीन हिन्दी साहित्य में पर्यावरणीय चिंतन का अनुशीलन
डॉ0 सत्येन्द्र प्रकाश, राघवेन्द्र प्रकाश
How to cite this article:
डॉ0 सत्येन्द्र प्रकाश, राघवेन्द्र प्रकाश. समकालीन हिन्दी साहित्य में पर्यावरणीय चिंतन का अनुशीलन. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 112-115.
36
प्रगतिशील आलोचक: आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
डाॅ. राधाकृष्ण
How to cite this article:
डाॅ. राधाकृष्ण. प्रगतिशील आलोचक: आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 116-118.
37
प्रेमचंद कथा साहित्य में, मातृत्व के विविध रूपों में नारी
प्रमिला देवी
How to cite this article:
प्रमिला देवी. प्रेमचंद कथा साहित्य में, मातृत्व के विविध रूपों में नारी. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 119-120.
38
दिनकर जी के काव्य में पूंजीवाद विरोधी स्वर
प्रमिला देवी
How to cite this article:
प्रमिला देवी. दिनकर जी के काव्य में पूंजीवाद विरोधी स्वर. International Journal of Hindi Research. 2017; 3(2): 121-122.