International Journal of Hindi Research

International Journal of Hindi Research


International Journal of Hindi Research
Vol. 3, Issue 2 (2017)
S.No. Title and Authors Name
1
धरती का कवि त्रिलोचन
मंजू देवी
2
गीताः विषाद से क्रान्ति और क्रान्ति से सृजन
प्रो0 संगीता जैन, प्रो0 लक्ष्मी शर्मा
3
मृदुला गर्ग के उपन्यास कठगुलाब में नारी संवेदना
डॉ0 सुमन सामोता
4
भक्तिकाल में स्त्री
विजय
5
निर्गुण भक्ति परम्परा और बेनामी जी
सतीश कुमार, राम जी शर्मा
6
स्त्री मुक्ति और अस्मिता की पहचान
Dr. Prachi Singh
7
जयपुर रियासत में जागीरदारी व्यवस्था
डाॅ0 चित्रा तंवर
8
रमेश चन्द्र शाह के उपन्यासों का वर्गीकरण
किरन
9
पं. लखमीचंद के सांगों में लोक-जीवन
डाॅ. पूनम काजल
10
बुध्दम् शरणम् गच्छामि__धम्मम् शरणम् गच्छामि__संघम् शरणम् गच्छामि !!
प्रो. राजकुमार लहरे
11
अनूप अषेष के नवगीतों में नवीन बिम्ब ग्राह्यता एवं प्रतीक योजनाएं
डाॅ0 बीरेन्द्र कुमार त्रिपाठी
12
आधुनिक काव्य में महिलाओं पर चिंतन
आशा रानी
13
अरुणाचल प्रदेश की आदी जनजाति पर एक विमर्श
विजय कुमार यादव
14
हिंद स्वराज: कुछ तथ्य
डॉ0 बृजेन्द्र कुमार अग्निहोत्री
15
सन्त बेनामी जी की साधना-पद्धति
सतीश कुमार, बसन्ती
16
बोधिसत्व बाबा साहेब डाँ. भीमराव अम्बेडकर: एक प्रकाश-स्तंभ
प्रो0 राजकुमार लहरे
17
प्रभा खेतान कृत ‘आओ पेपे घर चलें’ लंबी कहानी में चित्रित स्त्री पात्रों का अवलोकन
रम्या. वी.
18
हिंदी मुहावरेदार अभिव्यक्तियों का भाषिक अध्ययन
प्रितेंद्र कुमार मालाकार
19
बिहारी की अभिव्यन्जना पद्धति-रीति-श्रृंगार के संदर्भ में
लक्ष्मी सुजाता
20
हिन्दी की महत्वपूर्ण विधाः यात्रा साहित्य
करुणा सक्सेना
21
प्रेमचंद और श्री लंका के लेखक मार्टिन विक्रमसिंह की कहानियों में चित्रित नारियों की समस्याएँ
डाॅ. आर. के. डी. निलंति कुमारी
22
समकालीन कहानी: बदलते सामाजिक संबंध ओर जीवन मूल्य में द्वंद्व
Dilraj Meena, Dr. K.L Raigar
23
राजस्थान के विकास में पंचायत राज संस्थाओं की भूमिका
Dr. Bhupendar Kumar Dular, Mahesh Kumar Yadav
24
आधुनिक समय में वेदों का महत्त्व
डाॅ. दोलामणिः आर्यः
25
बंदा सिंह बहादुरः योगदान व बलिदान
Ravita Rani
26
मृणाल पाण्डे का पत्रकारिता के क्षेत्र में योगदान
डाॅ. महेन्द्र सिंह
27
प्रेमचन्द के कहानियों में दलित विमर्श
सुमन
28
बच्चन के काव्य में प्रेम के विविध रूप
रीना अग्रवाल
29
भारत भूषण अग्रवाल के काव्य में नारी विमर्श
डाॅ0 ओम प्रकाश
30
मुगल शैली का सौन्दर्य सापेक्ष की समीक्षा
डाॅ0 वीना रानी
31
गोस्वामी तुलसीदास की प्रासांगिकता
Nitu Gupta
32
वेदों में नारी की सार्वभौमिकता
सोनू
33
चित्रा मुद्गल के साहित्य में चित्रित आर्थिक संदर्भ में सामाजिक यथार्थ
पिंकी शर्मा
34
नई सदी में आदिवासी साहित्य एवं अस्मिता का यर्थाथ
डाॅ0 प्रीति सिंह
35
समकालीन हिन्दी साहित्य में पर्यावरणीय चिंतन का अनुशीलन
डॉ0 सत्येन्द्र प्रकाश, राघवेन्द्र प्रकाश
36
प्रगतिशील आलोचक: आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
डाॅ. राधाकृष्ण
37
प्रेमचंद कथा साहित्य में, मातृत्व के विविध रूपों में नारी
प्रमिला देवी
38
दिनकर जी के काव्य में पूंजीवाद विरोधी स्वर
प्रमिला देवी