International Journal of Hindi Research

International Journal of Hindi Research


International Journal of Hindi Research
International Journal of Hindi Research
Vol. 4, Issue 2 (2018)

राष्ट्रवाद के जनक : मोहम्मद अली जिन्ना


दुलारी कुमारी

‘राष्ट्रवाद’ एक राजनीतिक चिंतन तथा विचारों में एक उभयभावी अवधारणा रही है। सभी प्रकार के मौजूदा ‘वादों’ जैसे- साम्राज्यवाद, धर्मनिरपेक्षवाद, उदारवाद, समुदायवाद, क्षेत्रवाद, गांधीवाद, अन्तर्राष्ट्रीयवाद और राष्ट्रवाद आदि में, राष्ट्रवाद की अवधारणा सबसे अधिक विमर्शित और प्रतिस्पर्धात्मक रही है।
Download  |  Pages : 36-37
How to cite this article:
दुलारी कुमारी. राष्ट्रवाद के जनक : मोहम्मद अली जिन्ना. International Journal of Hindi Research, Volume 4, Issue 2, 2018, Pages 36-37
International Journal of Hindi Research International Journal of Hindi Research