International Journal of Hindi Research

International Journal of Hindi Research


International Journal of Hindi Research
International Journal of Hindi Research
Vol. 5, Issue 6 (2019)

हिंदी शब्दकोश निर्माण का समसामयिक परिप्रेक्ष्य


अभिजीत प्रसाद

एक कालबिंदु पर किसी भाषा का अध्ययन समय विशेष में उस भाषा के विभिन्न पक्षों की स्थिति एवं स्वरूप को प्रकाशित करता है जिसे एफ.डी. सस्यूर द्वारा ‘समकालिक अध्ययन’ (Synchronic study) नाम दिया गया है। यह अध्ययन-विवेचन एक भाषा की किसी इकाई विशेष के संदर्भ में किया जा सकता है और भाषा के सभी पक्षों के संदर्भ में भी। किसी भी भाषा के भाषिक विवेचन के अनेक पक्ष होते हैं जो उसके अंगों, उसके व्यवहार एवं सामाजिक तथा मनोवैज्ञानिक परिप्रेक्ष्यों से जुड़े होते हैं। प्रस्तुत शोधपत्र में हिंदी शब्दकोश से संबंधित विविध पक्षों पर प्रकाश डाला जा रहा है।
Pages : 35-37 | 440 Views | 107 Downloads