International Journal of Hindi Research

International Journal of Hindi Research


International Journal of Hindi Research
International Journal of Hindi Research
Vol. 5, Issue 6 (2019)

गणित और विज्ञान के क्षेत्र में प्राचीन भारत का योगदान


रेखा श्रीवास्तव

कुछ दिनों पूर्व भारत द्वारा किया गया चंद्रयान मिशन 2, जिसे पूर्णता तो नहीं पर 98 प्रतिशत तक सफल माना गया। इस अभियान में भले ही पूर्ण सफलता नहीं मिली परन्तु भारत विश्व में अंतरिक्ष की ऊÐचाइयों को छूने वाला एक प्रमुख देश बन गया। इसके पूर्व भी चंद्रयान मिशन 1 और मंगल मिशन को सफलतापूर्वक पूर्ण करके भारत विश्व में अपनी पहचान बना चुका था। वर्तमान में ही भारत ने ज्ञान विज्ञान के क्षेत्र में उपलब्धियाÐ प्राप्त नहीं की अपितु प्राचीन भारत में भी विज्ञान का विकास आरंभ हो चुका था। करीब 3500 वर्ष पूर्व मिले सिंधु घाटी सभ्यता के अवशेष उस काल की विकसित भवन निर्माण कला और सुव्यवस्थित नगर योजना को प्रमाणित करते हैं। वैदिक कालीन भारत में विज्ञान के क्षेत्र में जो प्रगति की, भले ही इनमें से कुछ के लिखित प्रमाण उपलब्ध नहीं है परन्तु परंपरा के रूप में जो सामग्री उपलब्ध है वह इस बात का प्रमाण है कि भारतीय धरती से लेकर आकाश तक ही नहीं मानव जीवन के रहस्यो के विषय में जानकारी प्राप्त करने की दिशा में अग्रसर थे।
Pages : 58-59 | 423 Views | 123 Downloads