International Journal of Hindi Research

International Journal of Hindi Research


International Journal of Hindi Research
International Journal of Hindi Research
Vol. 7, Issue 5 (2021)

महिलाओं के लिए शिक्षा की उपयोगिताः आधुनिक परिपे्रक्ष्य में


लक्ष्मी मिश्रा, डाॅ. धीरेन्द्र सिंह

महिलाएं मूल रूप से प्रत्येक समाज का एक महत्वपूर्ण अंग है जिनकी जनसंख्या लगभग पुरुषों के बराबर है। महिलाओं में शिक्षा की उपयोगिता प्राचीन काल से रही है। आधुनिक सन्दर्भ में महिलाओं के लिए शिक्षा अधिक उपयोगी हो जाती है क्योंकि समाज में अपने अधिकारों को प्राप्त करने के लिए शिक्षा एक मजबूत कड़ी का कार्य करती है। शिक्षा समाज के लिए वरदान है। शिक्षा के बल पर महिलाएं किसी भी पद को ग्रहण कर सकती है। शिक्षा से आज महिलाओं के व्यक्तित्व में दिनों-दिन विकास हो रहा है। उसी से आज महिलाएं अच्छे-अच्छे पदों पर आसीन हो रही है जैसे, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, राजनीतिक एवं प्रशासनिक सेवाओं आदि में महिलाओं को संवैधानिक रूप से छूट प्रदान की गई है जिससे महिलाएं अपने व्यक्तित्व का विकास कर सकें।1 महिलाओं के लिए शिक्षा आवश्यक ही नहीं बल्कि अनिवार्य तत्व है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए शिक्षा आवश्यक है। महिलाओं के शिक्षित होने से पुरुषों के बराबर बौद्धिक निर्णय लेने की शक्ति आती है। पुरुषों और स्त्रियों को शिक्षा का समुचित अधिकार होना चाहिए। इन शैक्षणिक प्रावधानों के अन्तर्गत शिक्षा प्राप्त करने के लिए उन्हें समान अवसर प्रदान प्राप्त करना मध्यप्रदेश सरकार का लक्ष्य है।2
Download  |  Pages : 53-54
How to cite this article:
लक्ष्मी मिश्रा, डाॅ. धीरेन्द्र सिंह. महिलाओं के लिए शिक्षा की उपयोगिताः आधुनिक परिपे्रक्ष्य में. International Journal of Hindi Research, Volume 7, Issue 5, 2021, Pages 53-54
International Journal of Hindi Research